रणजी ट्रॉफी 87 साल में पहली बार नहीं होगी

By | January 30, 2021

 

 

नयी दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने शनिवार को एक बड़ा फैसला लिया है। रणजी ट्रॉफी की जगह इस सीजन में विजय हजारे ट्रॉफी ली जाएगी। बता दें कि कोरोना ने देश में खेल की स्थिति और दिशा दोनों को बदल दिया।

अप्रैल में होने वाले आईपीएल के 14 वें सीजन के साथ, बीसीसीआई के पास किसी भी घरेलू टूर्नामेंट की मेजबानी के लिए केवल दो महीने का समय बचा है। इन सभी को ध्यान में रखते हुए, बीसीसीआई ने विजय हजारे ट्रॉफी और रणजी ट्रॉफी में से किसी एक के आयोजन पर सभी संघों से राय मांगी थी।

 

विभिन्न राज्य क्रिकेट संघों ने बोर्ड सचिव जय शाह द्वारा दिए गए सुझाव पर अपनी राय दी है, जिसके आधार पर इस सीजन में, विजय हजारे के अलावा, वरिष्ठ महिला वनडे और अंडर -19 वीनू मांकड़ ट्रॉफी की मेजबानी करेंगे। टूर्नामेंट की कोई तारीख अभी तक घोषित नहीं की गई है, लेकिन हजारे ट्रॉफी फरवरी के दूसरे और तीसरे सप्ताह में शुरू होने की उम्मीद है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, आंध्र प्रदेश को छोड़कर अधिकांश राज्य संघ विजय हजारे ट्रॉफी के पक्ष में हैं। अधिकांश यूनियनों ने छोटे प्रारूप टूर्नामेंट पर सहमति व्यक्त की है।

बोर्ड सचिव जय शाह ने राज्य संघों को एक पत्र लिखकर निर्णय की जानकारी दी। हमारे लिए महिलाओं की प्रतियोगिता होना बहुत जरूरी है। आपको यह बताते हुए बहुत खुशी हो रही है कि हम सीनियर महिला वनडे टूर्नामेंट के साथ-साथ वीनू मांकड़ अंडर -19 टी 20 ट्रॉफी का भी आयोजन कर रहे हैं। यह निर्णय घरेलू सत्र 2020-21 के लिए प्राप्त प्रतिक्रियाओं के आधार पर लिया गया है। मैं पिछले साल आईपीएल के बाद सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के सफल आयोजन के लिए सभी को धन्यवाद देता हूं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *